Tagged: Relation

Accept Daughter in Law as Your Daughter 0

Accept Daughter in Law as Your Daughter

क्यों इतनी तकलीफ देती है जुदाई, क्यों होती है हमेशा बेटी की बिदाई| पालना क्यों छुट जाता है एक पल में, जुदाई के वक़्त क्यों बजती है शहनाई| हँसते हुए रोना आ जाता है...

0

Will Make a New Relation

New Relation चलो इक रिश्ता नया बनाते हैं… थोड़ा हँसाते – थोड़ा रुलाते हैं, खुशियों को जोड़ कर ग़मों को घटाते हैं, चलो इक रिश्ता नया बनाते हैं… दुश्मनी भूलकर दोस्ती बढ़ाते हैं, हंसी...

0

Father

ये स्ट्रोरी एक पिता की है! जो हमेशा अपने बच्चों (४ बच्चे) के लिए दिन भर और रात भर मजदूरी करता! और हमेशा अपने बच्चों को अछि एजुकेशन देने के लिए प्रयासः करता रहता,...