Tagged: Mother

Accept Daughter in Law as Your Daughter 0

Accept Daughter in Law as Your Daughter

क्यों इतनी तकलीफ देती है जुदाई, क्यों होती है हमेशा बेटी की बिदाई| पालना क्यों छुट जाता है एक पल में, जुदाई के वक़्त क्यों बजती है शहनाई| हँसते हुए रोना आ जाता है...

Parvarish 0

एक पहेली माता -पिता की सहेली – परवरिश

परवरिश तो माँ-पिता सबके ही अच्छी देने का प्रयास करते हैं, फिर क्यों बच्चों की गलतियों पर ताने उनको सुनने पड़ते हैं| जीवन भी एक क्रम दोहराता रहता है, हर बच्चे को किसी का...

0

A Poem Dedicated to Martyr’s Family

Martyr’s Family (शहीद की बेटी अपनी माँ से कहती है|) माँ, पापा जल्दी आएँगे, हमको खूब हंसाएंगे, मुझको गोद मे उठाएंगे, दुश्मन को मारना सिखायेंगे| माँ, पापा जल्दी आएँगे… हमको घुमाने ले जायेंगे, चाट-पूरी...

0

Daughter’s Feeling

पिता का प्यार और माँ की लोरी, इस रिश्ते की रीत क्यों कोरी! परायी क्यों बेटी हर होई, क्यों न रोके जग मे कोई!   हर बेटी पूछे रोई-रोई, क्यों माँ-पापा मैं पराई होई!...