Tagged: heart touching shayri

0

Intzaar (Waiting but Still Alone)

Intzaar सवालो मे उलझी रहीं यू आँखें मेरी, पलकों को उठा के ज़रा देखा भी नहीं| बेवजह रह गया इंतज़ार मेरा उसके लिए, जब गुजरा वो सामने से तो हमे खबर ही नहीं| पास...