Without You I am Nothing

0
669 views
@GoogleImages

Without You I am Nothing

चार कदम तेरे साथ के बगैर चल के देखा,
कुछ लम्हो को हालात मे बदल के देखा,
याद पड़ी हुई थी हर हिस्से मे दिल के,
अपनी परछाई मे भी तेरे अक्श को निकलते देखा|

जुदा होने का अहसास भी करके देखा,
तेरी शर्त पर तुमको खुदसे अलग करके देखा,
प्यार जरुरत नहीं दिल का हिस्सा है,
इन लफ्जो को आँखों से फिसलते देखा|

दर्द की तन्हाई मे भी जी के देखा,
खुद से खुद को ही समझते देखा,
काबू न था तेरे धड़कनो की कहा – सुनी पे,
तेरी यादों मे अपने सपनो को ढलते देखा|

चार कदम तेरे साथ के बगैर चल के देखा,
कुछ लम्हो को हालात मे बदल के देखा,
याद पड़ी हुई थी हर हिस्से मे दिल के,
अपनी परछाई मे भी तेरे अक्श को निकलते देखा|

Leave a Reply