A Story of Life – Great Words Spoken by Life

0
824 views
@GoogleImages

A Story of Life

हर पल मैंने ज़िन्दगी से एक सवाल किया,
क्यों मेरी हर चाहत को मुझसे दूर किया|

ये क्या? ज़िन्दगी भी मेरे सवालों का जवाब देने लगी,
कहने लगी- जो सही लगा मैंने वही किया|

अब क्या बोलूँ ये समझ न आया मुझे,
फिर एक बार ज़िन्दगी ने अपने पास बैढ़ाया मुझे|

कुछ किस्से अपने बीते हुए पलों के सुनाने लगी,
मेरी रोती हुई आँखों को हँसाने लगी|

बोली ये रीत है मेरी, मुझे निभाना है,
किसी को कभी हँसाना तो – कभी रुलाना है|

मैं भी चाहती हूँ सबके सपनों को सच करना,
किसी की अधूरी पड़ी किताब को पूरा पड़ना|

मैं कहाँ जाऊं अपनी शिकायतें लेकर,
सब चले जाते हैं मुझे ही बेवफा कहकर|

Leave a Reply