No Expactations

0
61 views
@GoogleImages
कुछ बेबुनियाद सी उम्मीद,
कुछ अनकहे से शब्द,
कुदरे हुए कुछ जख्म,
आदतों के कुछ घेरे,
बेपनाह मोहोब्बत का वादा,
बिखरे हुए से कुछ रिश्ते,
टुटा फूटा ये दिल,
दिल के पिंजरे में बंद धड़कन,
उड़ान भरने को बेताब से सपने,
पर बिना पंख सब है मुश्किल,
छोटा सा ये सफर,
यादों के हसीं सबेरे,
आँखों के सूखे हुए आंसू,
बस उनकी खुशियों में मेरे बसेरे…..

Leave a Reply