Dard-E-Mohobbat

0
227 views
@GoogleImages

दर्द ऐ मोह्हबत

जो आया है वो जरूर जायेगा,
मोहोब्बत का हर फ़र्ज़ जरूर निभाएगा,

कभी वादों से अपने तुमको लुभाएगा वो,
कभी उम्मीद दे कर अपना तुमको बनाएगा वो,

कभी बनेगा वजह हंसी तुम्हारे होंठों की,
कभी आँसूं पलकों से पौंछ जायेगा वो,

कभी रूठेगा कभी मनाएगा,
कभी बातों से तुमको बहलाएगा,

जब भी जाना होगा छोड़कर तुमको,
इस तरह से वो बदल जायेगा,

कभी अपनी मजबूरियों में तुमको उलझाएगा,
कभी तुम्हारी मज़बूरी का फायदा उठाएगा,

रोक न पाओगे उसे,
वो रेत जैसे हाथों से फिसल जायेगा….

Leave a Reply