Love Back Again in Life

0
797 views
@GoogleImages

लड़का

मेरे सांसो की गहराई को तुम महसूस कर लो न,
जो अब तक न मैं कह पाया मेरी आँखों से पढ़ लो न,
सुना था दम बहोत है इन निगाहों की अदाओ मैं,
ज़रा देखो यहाँ मुझको सनम दीदार कर दो न!

ये आंखें क्यों तेरी नम है मुझे यू देख के हमदम,
मैं तेरा था तेरा ही हु ये समझो न अब तुम जानम,
हुई थी एक खता हमसे उसे अब माफ़ कर दो न,
तेरे दर पे हूँ मैं आया मुझे अपना समझ लो न!

तेरे बिन कैसे काटें मैंने ये दिन और ये मेरी रातें,
तुझे हर पल बुलाया मैंने दिल से दे-दे के कई सौगातें,
मैं ये जनता हूँ मैं नहीं हूँ अब तेरे काबिल,
वो मज़बूरी थी मेरी जो मैं तुझसे दूर जा बैढा,
हुआ अब रुढ़ना हद भी वो सब कुछ भूल जाओ न!

लड़की

मै कैसे भूल जाऊ उन मेरे जज्बातों की तन्हाई,
तुझे भूली नहीं हूँ मैं, फिर यादें पलट आयी,
क्यों तुम फिर लोट आये हो देने को वो बीती हुई सभी बातें,
मैं शायद माफ़ तो कर दू मगर अपना नहीं पाऊ!

Leave a Reply