Farmer-A gift of God

0
573 views
@GoogleImages

Farmer

हर मौसम का आदी है वो,
गर्म धूप हो या कड़कती सर्दी,
वे मौसम बरसात या बिन बुलाये तूफ़ान,
हर एक को अपनी धरती पर झेलने की आदत है उसे|

बिना किसी शिकायत करता है फ़र्ज़ पूरा,
आधे पेट सोना नसीब है उसका,
फटे हाल रहना किस्मत है उसकी,
समझौता कर लेना आता है उसे|

झोपडी मे भी महलों की खुशहाली ढूंढ लेना आता है उसे,
इसलिए परमात्मा का सम्पूर्ण दूत कहा जाता है उसे,
कल जो हो उसके हवाले,
आज जिन्दा है तो जी लेना आता है उसे|

दिन हो या रात, सुबह हो या शाम बस एक ही काम है उसका,
अपनी माटी का क़र्ज़ अदा करना बस सम्मान है उसका,
ऊपर वाले कैसे करे तेरा शुक्रिया,
जिसे बनाया तूने किसान नाम है उसका|

जय किसान!

Leave a Reply