Friday, June 22, 2018
A Story of Life हर पल मैंने ज़िन्दगी से एक सवाल किया, क्यों मेरी हर चाहत को मुझसे दूर किया| ये क्या? ज़िन्दगी भी मेरे सवालों का जवाब देने लगी, कहने लगी- जो सही लगा मैंने वही किया| अब क्या बोलूँ ये समझ न...
Sawalon Ki Duniya कदमो की आहटों मैं सवालों की आंधियां हैँ, हर नज़र के साथ बैढीं, अनगिनत सी जालियां हैँ | मेरी जुबां के लफ्ज़ कुछ फुसफुसाना चाहते हैँ, लम्हों की आवाज़ें अब कानों की बालियां हैँ | न लहर के साथ कश्ती, न...

Kahan Se Laaun

Kahan Se Laaun दिल को तस्सली देने वाले वो अल्फ़ाज़ कहाँ से लाऊं, जो रूह मैं बस जाये वो प्यार कहाँ से लाऊं | सिमटी हुई खुसबू तेरी अब भी मेरे जहन मैं है, रुकी हुई उन यादों का फरमान कहाँ से लाऊं...
Ki Tarah - A Lovable Poem पढ़ लो मुझको ज़रा शायरी की तरह, मैं याद हर वक़्त आउंगी तुम्हे मौसकी की तरह, मत पलटो मुझे किताबों के पन्नो की तरह, तेरे अंदर बसती हूँ मै सांसों की तरह! जल के बुझ जाने...
Samjhahish मोहोब्बत सिर्फ तन्हाइयों का नाम है, समझ जाओगे तो जीना आसान हो जाएगी! बिखर कर सिमटना ही ज़िन्दगी है, बिखर के रह गए तो सैलाब आ जायेगा! जरुरी नहीं की तमानना हर पूरी हो जाओ, सांसो को गम के साथ भी रहना आ जायेगा! वकत...

A Life of Love

Life of Love सिर्फ तन्हाइयों के आलम से न गुजरे ये ज़िन्दगी, ले काफिला चले हम, बिताने ये ज़िन्दगी, रुकी हुई सी सांसे, थमे हुए से लम्हे, कायनात की फलक से उड़ा दें ये ज़िन्दगी! धुआं - धुआं सा लगने लगा था ये आसमा...
Broken Heart किस रिश्ते पे भरोसा करु समझ नहीं आता, हर कोई हुस्न का तलबगार लगता है! एक ही पल मे बिखर के रह गयी मेरी दुनिया, पता चला जो उसके दिल मे भी परियों का बाजार लगता है! क्या हुआ ये कुछ समझ...
Unbreakable Relation इश्क की दुनियां मे प्यार का हिसाब लेने चले आये, तेरे कदमो के साथ चली उन यादों की किताब लेने चले आये! हवा भी न आयी हमारे दर्मियां उस पल, अपने उन बीतें हुए पलों की कायनात लेने चले आये! बड़े ही...
Words of Life खामोश होकर भी ज़िन्दगी न जाने क्या-क्या सवाल करती है, कभी अपनी तो कभी परायों की बात करती है, फिर कहती है, मैं भी तो औरों की तरह बेवफा हूँ, कल तुझे मौत के हवाले छोड़ जाना है! फिर क्यों लोग...
Dedicated for Martyr क्यों बाट दिया है इन्सां को इस धर्म रीत की डोरी से, देखो क्या अंजाम हुआ है भारत माँ की झोली पे, ये समय नही है समझाने का उन दुस्टों को बोली से, जिसने माँ की कोख उजाड़ी बारूदों की...

Soniye

तेरी सुनी-सुनी अक्खां बिच मैनु रहना हैं सोनिये, तेरी यादों के बिच मैंने बसना है सोनिये, अखि दुनियानु छोड़ देना तेरे प्यार नाल मैं, तेरे नाल मेरी सारी ख़ुशी कुर्बान सोनिये! तेरी ख़ुशी दे बास्ते मैं अपनी जान दे देदेंगे, मैनु ज़िन्दगी बिच तेरा...

Waqt ki Kalam

वक़्त की कलम फिसलने लगी हाथों से क्या पता ये वक़्त नया कुछ लिखवा जाये, मेरी किताब के पन्ने कुछ अजीब सी झलक दिखला जाये, हासिल करके जो हासिल न हुआ उसकी अनकही सी गजल सुना जाये, लफ्ज़ को समझना मेरी आंखों...

Safar

तुम अगर चाहो तो मेरे साथ चल सकते हो, मेरी तन्हाई को अपनी चाहत मैं बदल सकते हो, कट सकते है ये रास्ते साथ चलते चलते, चाहो तो इन बदलो को बारिशों मे बदल सकते हो! नम पड़ी मेरी आँखों की गहराई को...

Samjhota

समझौतों की सलाखें थी आगे, पीछे तेरा प्यार था, चुनना था बस एक किसी को, दिल का मज़बूरी से तककरार था! समझ न आया मुझको ये पल किसका किसको इंतजार था, बंधा हुआ था मैं खुद से ही था या किस्मत का...
इस प्यार की रीत पुरानी न होती, गर मीरा उस कृष्ण की दीवानी न होती, राधा- कृष्ण की कोई कहानी न होती, आज भी वो कहानी हर किसी की जुबानी न होती! लफ्ज़ गर कह जाते सब शब्दों मे, तो आँखों की बातें किसी...
पलकों को जब आँखों से भिगोया, धड़कन रोई और दिल मुस्कुराया, हाथों ने मोती रोके, तब सागर सम्हल पाया! उसकी हर एक लफ्ज़ को, होंठों से हमने लगाया, अश्क लिए उधार और मुश्कुराहट उसको दे आया, गलतियां क्या हुई ऐ ज़िन्दगी बता ज़रा,...
लड़का मेरे सांसो की गहराई को तुम महसूस कर लो न, जो अब तक न मैं कह पाया मेरी आँखों से पढ़ लो न, सुना था दम बहोत है इन निगाहों की अदाओ मैं, ज़रा देखो यहाँ मुझको सनम दीदार कर दो न! ये...

Forgive me Again

Wait the time and want the time, Don’t know when repeat it again! I remember all the thing when you were cry me first, I remember all the thing when you were laugh me first, Need the thing and wait the things when...

Chal Pade

चंद तीलियों से आग क्या लगी, सारे सपने भी जल पड़े, उड़ाती रही रेत आंधिया, और किस्से मेरे धुंए मै उड़ पड़े! आवाजे कुछ अजीब सी सुनाई पड़ने लगी अब मुझे, पहचानने को जो निकले हम आहटों मै उलझ पड़े! बड़ा ही गहरा...

Saharaa

उड़ती हुई घटा को बादल का सहारा मिल गया, डूबती हुई कश्ती को उसका का किनारा मिल गया! हर लफ्ज़ को मिली फिर उसकी जुबान, बस रह गए हम तो हमे खुदा का ढिकाना मिल गया! पलकों के पर्दों को गम आँखों के...
370FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts