Friday, June 22, 2018
कुछ बेबुनियाद सी उम्मीद, कुछ अनकहे से शब्द, कुदरे हुए कुछ जख्म, आदतों के कुछ घेरे, बेपनाह मोहोब्बत का वादा, बिखरे हुए से कुछ रिश्ते, टुटा फूटा ये दिल, दिल के पिंजरे में बंद धड़कन, उड़ान भरने को बेताब से सपने, पर बिना पंख सब है मुश्किल, छोटा सा...

Dard-E-Mohobbat

दर्द ऐ मोह्हबत जो आया है वो जरूर जायेगा, मोहोब्बत का हर फ़र्ज़ जरूर निभाएगा, कभी वादों से अपने तुमको लुभाएगा वो, कभी उम्मीद दे कर अपना तुमको बनाएगा वो, कभी बनेगा वजह हंसी तुम्हारे होंठों की, कभी आँसूं पलकों से पौंछ जायेगा वो, कभी रूठेगा...

DHOKHA

DHOKHA आज फिर कुछ लिखने का दिल कर गया मेरा, दर्द कलम से पन्नों पर उतर गया मेरा, हिल गयी है बुनियाद कुछ रिश्तों की, दिल में हर गम दफ़न हो गया मेरा , आज फिर कुछ लिखने का दिल कर गया मेरा, दर्द कलम...
Love Hai Tumse

Love Hai Tumse

बिन तेरा रहा नहीं जाता, तुझसे कुछ कहा नहीं जाता, तुझ बिन सूना है हर पल मेरा , तेरा गम हमसे सहा नहीं जाता|
कैसे भुला पाऊँगी तुमको मुझे बता जाओ, चले जाना बस मेरी गलती बता जाओ| हरसत मेरी ज्यादा थी तुमसे जानती हूँ मैं, मेरी खोयी हुई चाहत को पाने की दिशा बता जाओ| मोहोब्बत थी मेरी पहली सिला बड़ा जोर का है, वफाओं में क्या...
मेरे नसीब में रोना हैं पाकर तुझे फिर खोना हैं, देख तुझे खुश होती हूँ, चुपके से कभी मैं रोती हूँ | ख़्वाब सभी अफ़साने हैं, अब तो बस आंसू पाने है, सपने मेरे पुराने हैं, सताते हुए ज़माने हैं| अपनों संग तन्हाई...
Intzaar सवालो मे उलझी रहीं यू आँखें मेरी, पलकों को उठा के ज़रा देखा भी नहीं| बेवजह रह गया इंतज़ार मेरा उसके लिए, जब गुजरा वो सामने से तो हमे खबर ही नहीं| पास जब आया वो मेरे कई ज़माने क बाद, पर अब उसको...

Uljhan

उलझने ज़िन्दगी की यु उलझ सी गयी, खड़े रहे हम राहो मे और कश्तियाँ डूबती रही!   फर्क और फासला हमने बहोत करीब से देखा लहरो और समुन्दर के बीच, कश्तियाँ टकरा कर किनारो से पलटती रही!   बड़ी मासूम थी वो हवाएं भी जिनको...
370FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts