Sunday, May 20, 2018
शिद्दत से चाहत कुछ नहीं होती, चाहत से शिद्दत है अब तो, गए वो ज़माने जब प्यार होता था निगाहों से, Royal Status पर आकर सब थम गए अब तो, पहले का प्यार हुआ करता था कृष्णा और राधा जैसा, Jaguar देख कर मोहोब्बत...
मैंने तो तेरा साथ दिया, तूने अकेला क्यों छोड़ा है कैसे बताऊ मैं तुझको, हर एक सपना अधूरा है पल-पल जो आंसू हैं दिए, वो तो मैंने पोंछ लिए, टूटे हुए सपनो को लेकर, मैं बापस फिर न आउंगी..... मैं अब न किसी को चाहूंगी.....

Decided Path

अब कुछ नहीं, बस चुप रहना चाहती हूँ, मोहोब्बत में नहीं, गम में जीना चाहती हूँ, बेपनाह नहीं, बेवजह ज़िंदगी चाहती हूँ, किसी और की नहीं, खुद की जरुरत बनना चाहती हूँ रोना नहीं, रुलाना चाहती हूँ, याद करना नहीं चाहती, खुद किसी को याद आना चाहती हूँ....

Old Book

ज़रा सोच कर पढ़िए किसी पुरानी पड़ी किताब को, क्योकि... पुरानी किताब के जिस दिन पन्ने खुलते हैं, अक्सर वो इतिहास बयां कर जाते हैं... कभी रुला जाते हैं कभी हंसा जाते हैं, कभी गमो को भी भुला जाते हैं, कभी मिला देते हैं कुछ...
Expectation and Reality of Women मैं बेटी हूँ सबसे एक आस लगाए बैठी हूँ, सम्मानों की हर जन से मैं अरमान जगाये बैठी हूँ, तिनके सी थी, बड़ी हुई फिर उम्मीदों की प्याली सी मैं, बाबा की मैं गुड़िया थी, और माँ के...
Life of Women

Life of Women

Life of Women सपना: कल रात मैंने एक सपना देखा, सपनो में आसमानों में खुद को परियों सा देखा, दिल घबराया, डर घिर आया, जब वहाँ पापा-मम्मी का साथ नहीं पाया, दूरी क्या होती है तब समझ आया, टूटते ही सपना माँ-पापा को गले लगाया, यहीं नहीं...
चाहूँ वो मोहोब्बत जो बेबजह हो जाये, माफ़ इश्क़ की हर सजा हो जाये, दस्तूर इस जहाँ का भी न खफा हो जाये, तेरे हाथों से पिया जहर भी दवा हो जाये| मेरी दुवाओं का ये असर हो जाये, किसी और की दुआ बेअसर...
न चाहते हुए भी कुछ मेरे सवालों के जवाब दे दो, मैंने जो की तुझसे उस चाहत का हिसाब दे दो| मत करो रुस्वा मेरे दिल के ख्यालों को, मेरी वफाओं की जलती किताब दे दो| हारी हुई सी हूँ थकी नहीं हूँ...
Only You

Only You

वफ़ा भी तू और बेबफाई भी तू, मिलन भी तू और जुदाई भी तू, तुझसे ही शुरू मैं, खत्म भी हूँ तुझ पर, अपनी भी तू और परायी भी तू| मोहोब्बत का इन्साफ भी तू, सिफारिश भी तू, सजा भी तू और मेरी दवा...
टुटा हुआ दिल भी कुछ सिखा के जाता है, मोहोब्बत के लम्हों का मज़ा दिला के जाता है| रोती हुई आँखों को भी हंसा के जाता है, दिल के हर गम को छुपाना सिखाता है| इन्तज़ार भी एक होंसला बना के जाता है, परछाई...
BE Mine

Be Mine

तपिश से बचना हो तो मेरी जुल्फों की छाओं में आ जाना, मोहोब्बत को अपनी मेरे दिल में बसा जाना, अरमान की हस्तियां खुदगर्ज कुछ ज्यादा है, मेरे आंसू पोंछ कर खुद को न रुला जाना| रास्ते में बैढे हैं तेरे ख्वाब लेकर, एक...
सुकून के चार पल साथ मेरे चल कर देखो, फिर से एक बार बाँहों में मेरी पिघल कर देखो, मेरी मोहोब्बत को आँखों से मत देखो तुम, तन्हाई में प्यार मेरा महसूस तुम करके देखो| बेबस हो जाती हैं जब देखती हैं ये...
मेरी मोहोब्बत का असर इतना हो जाये, आसान हर सफ़र हो जाये, गर आये कोई अपनी वफाओं के बीच, उसको भी प्यार की खबर हो जाये! बन जाये एक कहानी नयी, हीर राँझा की कहानी पुरानी हो जाये, तू बने शब्द मेरे, मैं तेरी बनू...
Feeling Lonely with Fake Relationship तम्मनाओं के घेरे हैं, रातों के अँधेरे हैं, खोमोशी में भी आहट है, उजले क्यों न सबेरे है| उनको पाकर भी अकेले हैं, तन्हाइयों का मेले हैं, चेहेरा बदल कर वो अपना, हमसे शतरंज का खेल खेले हैं| फिर राहों हम बैढे हैं, रिश्ता...
Sound of Love सलीके और तरीके मे फर्क सिखा गयी दुनिया, पर सांसों के समझौते से अक्सर ज़िंदगी बदल जाते है| तन्हाई किसी के आने की मोहताज़ नहीं थी तब भी, पलट गयी ख्वाहिशे तब राहें भी अक्सर वहाँ लोग पलट जाते हैं| लफ़्ज़ों...
Wonderful Feelings of Heart दिल की खामोशी दिल की दोस्त बन के रह गयीं, रातों की तन्हाई आगोश बन के रह गयीं| सिलबटें तेरी यादों की, फर्माहिशें थी मेरी, तेरी वो बातें मेरे अल्फ़ाज़ बन के रह गयीं| तूफानी रास्तों से गुजर रहे थे...

Kahan Se Laaun

Kahan Se Laaun दिल को तस्सली देने वाले वो अल्फ़ाज़ कहाँ से लाऊं, जो रूह मैं बस जाये वो प्यार कहाँ से लाऊं | सिमटी हुई खुसबू तेरी अब भी मेरे जहन मैं है, रुकी हुई उन यादों का फरमान कहाँ से लाऊं...
Ki Tarah - A Lovable Poem पढ़ लो मुझको ज़रा शायरी की तरह, मैं याद हर वक़्त आउंगी तुम्हे मौसकी की तरह, मत पलटो मुझे किताबों के पन्नो की तरह, तेरे अंदर बसती हूँ मै सांसों की तरह! जल के बुझ जाने...
Unbreakable Relation इश्क की दुनियां मे प्यार का हिसाब लेने चले आये, तेरे कदमो के साथ चली उन यादों की किताब लेने चले आये! हवा भी न आयी हमारे दर्मियां उस पल, अपने उन बीतें हुए पलों की कायनात लेने चले आये! बड़े ही...

Waqt ki Kalam

वक़्त की कलम फिसलने लगी हाथों से क्या पता ये वक़्त नया कुछ लिखवा जाये, मेरी किताब के पन्ने कुछ अजीब सी झलक दिखला जाये, हासिल करके जो हासिल न हुआ उसकी अनकही सी गजल सुना जाये, लफ्ज़ को समझना मेरी आंखों...
371FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts