Wednesday, January 17, 2018

Rape

बलात्कार जिसने जैसा सोचा वैसा, बलात्कार को ढाल दिया, किसी ने इसको छोटे कपड़ो, किसी ने साड़ी में बांध दिया, किसी ने ऊँगली की चाल-चलन पर, बातों से भी इज्जत को उछाल दिया, किसी ने दिए ताने माँ बाप को, बस लड़की को बदनाम किया, एक-एक कानून बनाकर...
Human Trafficking मत बेचो मुझे मैं मासूम हूँ, मैं भी किसी माँ - बाप की जान हूँ| दर्द मुझे भी होता है, सम्मान मेरा भी खोता है| मेरे लिए तो सब एक समान, फिर क्यों समझा जाता है मुझे सामान| मेरी गलती क्या मुझे बताओ, मत मुझे...
373FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts